Diabetes: मुट्ठी भर दवाएं नही, मधुमेह को दूर करेगा यह घरेलू आयुर्वेदिक उपाय जाने पूरी न्यूज़

Diabetes: मुट्ठी भर दवाएं नही, मधुमेह को दूर करेगा यह घरेलू आयुर्वेदिक उपाय जाने पूरी न्यूज़

दुनिया भर में मधुमेह से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ रही है। पुरुषों और महिलाओं दोनों पर हमला किया जा रहा है। हालांकि, मधुमेह के लिए कोई निश्चित उम्र नहीं है। इस लॉकडाउन में यह संख्या काफी बढ़ गई है।

डायबिटीज अनजाने में हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचाता है। खासतौर पर किडनी, आंख, दिल पर जोर। और इसलिए सभी को वर्ष में कम से कम एक बार मधुमेह की जांच करानी चाहिए। जरूरत पड़ने पर डॉक्टर की सलाह से ही दवा लें। नियमित व्यायाम के साथ-साथ खान-पान भी जरूरी है। आयुर्वेद के अनुसार, इनमें से कुछ खाद्य पदार्थ मधुमेह को नियंत्रित करने में भी मदद करते हैं। आप इसे एक बार ट्राई कर सकते हैं।

करेला : हमारे देश में साल भर करेला बड़ी मात्रा में उपलब्ध होता है। और इसलिए रोजाना चावल के साथ एक साबुत करला सिद्ध खाना फायदेमंद होता है। साथ ही कोरोला जूस भी बनाकर खा लें| लेकिन इससे भी फायदा होगा। ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में कार्ला की भूमिका बहुत ज्यादा होती है। आप करी करी भी बनाकर खा सकते हैं|

आंवला: आंवला विटामिन सी के स्रोतों में से एक है और रक्त शर्करा संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है। आप रोजाना कच्चा आंवला खा सकते हैं, या फिर एक कप करेले के रस में 1 बड़ा चम्मच बादाम का रस मिलाकर रोजाना पी सकते हैं। आप 2 चम्मच अलमर के रस को एक कप पानी में मिलाकर रोज सुबह खाली पेट भी पी सकते हैं।

आम के पत्ते – मधुमेह के इलाज में आम के पत्ते बहुत कारगर होते हैं। हालांकि बहुतों को इसकी जानकारी नहीं थी। युवा आंवले के चूर्ण को सुखाकर पानी में मिलाकर खाएं। अगर आप सुबह और शाम दो गिलास खा सकते हैं, लेकिन आपको फायदा होगा।

मेथी : मेथी शुगर को नियंत्रित करने के लिए बहुत अच्छा काम करती है. मेथी हमें इंसुलिन स्राव को नियंत्रित करने में मदद करती है। दो चम्मच मेथी को रात भर एक गिलास पानी में भिगो दें। अब इसे छान कर सुबह खा लें। इस पानी को रोजाना खाली पेट पीने से शुगर कंट्रोल में रहता है। लेकिन इसके साथ ही चर्बी भी कम हो जाती है।

दालचीनी: कई अध्ययनों से पता चला है कि दालचीनी न केवल रक्त शर्करा के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव डालती है, बल्कि टाइप 2 मधुमेह के रोगियों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर भी सकारात्मक प्रभाव डालती है। दालचीनी हमारे इंसुलिन स्राव को नियंत्रित करती है। रोजाना 2 इंच दालचीनी को एक कप पानी में भिगो दें। अब अगली सुबह उस पानी को पी लें। लेकिन शरीर स्वस्थ रहेगा।

नोट: यह रिपोर्ट केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है, किसी दवा या उपचार के लिए नहीं। विवरण के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: