दांतों की समस्याओं के लिए 7 घरेलू उपचार Home Remedies For Dental Problem जाने पूरी Health न्यूज़

दांतों की समस्याओं के लिए 7 घरेलू उपचार|Home Remedies For Dental Problem जाने पूरी Health न्यूज़

भयंकर से भयंकर दांत का दर्द, दाढ़ का दर्द और अगर आप के मसूड़ों में दिक्कत है ना दोस्तों तो आप यह घरेलू उपचार आजमा लेना दो दिन में एकदम ठीक हो जाएंगे।

अमरुद के फल के बारे में तो आप जानते है की उसमे कितना vitamins होता है।

लेकिन अगर हम यहाँ अमरुद के पत्तों की बात करे तो इसमें भी बहूत ही ज़्यादा मात्रा में विटामिनस होते है। चाहे वेट लॉस को लेले, यां फोड़ी-फुंसी, हाथ पैरों में जलन किसी चीज में भी आप इसका इस्तिमाल कर सकते है।

लेकिन आज हम आपको स्पेशल दांत और दांत के दर्द और मसूड़ों वगेरे में पाएरिया की शिकयत में इसके क्या उपयोग है वो हम बताने वाले है।

अच्छे से साफ हो जाने के बाद उसे ग्राइंड कर ले यां कूट ले, लेकिन कुटते समय सिर्फ उसमे पानी का छटकाव करना है उसमे ज़्यादा पानी नही डालना है।

ग्राइंडर होने के बाद अमरुद की पत्तियों के रस को कॉटन बोल में ऑब्जरव कर ले।

फिर उस गीले कॉटन बोल पे एक चुटकी हल्दी पाउडर डाले।

फिर इस कॉटन बोल को जिस जगह दांत दर्द कर रहा हो वहां दांत पे कॉटन बोल को रख दे।

आधे घंटे तक ऐसे ही रहने दे और कुछ भी खाये पिए ना।

आधे घंटे बाद कॉटन बोल को निकल ले।

दांत दर्द में आपको काफ़ी राहत मिलेगी और दांतों की समस्या दूर होगी।

2. लौंग का तेल

यह प्राकृतिक उपचार दर्द को सुन्न कर देता है। इसे सीधे दर्द वाली जगह पर मलें, या रुई के फाहे को भिगोकर दांतों और मसूड़ों पर लगाएं। यह बेंज़ोकेन जितना प्रभावी हो सकता है, जो काउंटर पर मिलने वाले दांत दर्द जैल में सुन्न करने वाला घटक है। यह नुस्खा करने से दांतों की समस्या में फौरन आराम मिलेगा।

3. नमक के पानी का कुल्ला

अगर आपके दांत में दर्द और मसूड़ों में सूजन है तो अपने मुंह को गर्म नमक के पानी से धोने की कोशिश करें। बस एक कप गर्म पानी में एक दो चम्मच नमक मिलाएं। एक बार जब आप मिश्रण को अपने मुंह के चारों ओर घुमा लें, तो इसे थूक दें। यह घरेलू उपाय अपनाकर आप अपने दांतों की समस्या से बाहर आ सकते हैं।

ध्यान दें कि इंडियन सोसाइटी ऑफ पेडोडोंटिक्स एंड प्रिवेंटिव डेंटिस्ट्री के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया है कि नमक के पानी से कुल्ला करने से दांतों पर प्लाक संग्रह को नियंत्रित करने और मौखिक रोगों को रोकने में भी मदद मिल सकती है।

4. लौंग

आप अपने दांत दर्द के इलाज के लिए इस मसाले का उपयोग कई तरीकों से कर सकते हैं। चूंकि लौंग एक एंटीसेप्टिक है, इसलिए यह सूजन और दर्द को कम करने के लिए उपयोगी है। आप कॉटन बॉल पर लौंग का तेल लगाकर दर्द वाली जगह पर लगा सकते हैं, या तेल की एक बूंद सीधे अपने दांत पर रख सकते हैं। यह नुस्खा अपनाकर आप अपने दांतों का दर्द और दातों से संबंधित सभी समस्याओं का हल पा सकते हैं।

वैकल्पिक रूप से, आप एक गिलास पानी में लौंग के तेल की एक बूंद भी डाल सकते हैं और इसे माउथवॉश के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

दांतों का दर्द

5. अमरूद के पत्ते

अमरूद के पत्तों में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो आपके दर्द वाले दांत को शांत करने में मदद कर सकते हैं। आप चाय बनाने के लिए पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं जिसे आप ठंडा करने की रख सकते है और कुल्ला के रूप में उपयोग कर सकते, हैं या बस कुछ राहत पाने के लिए पत्तियों को चबा भी सकते हैं।

6. व्हीटग्रास

व्हीटग्रास के कई फायदे हैं जो इसे आपके दांत दर्द के इलाज का एक उपयोगी साधन बनाते हैं। उल्लिखित कई अन्य विधियों की तरह, यह बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमणों को दूर करने के लिए बहुत अच्छा है। तो, बस कुछ व्हीटग्रास का रस लें और इसे अपने मुंह में दिन में कुछ 2-3 बार कुल्ला करें।

7. अजवायन का तेल

अजवायन के तेल को कुल्ला के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है या सीधे आपके दांत पर लगाया जा सकता है। कुल्ला करने के लिए एक गिलास पानी में तेल की एक बूंद डालें और इसे माउथवॉश की तरह इस्तेमाल करें।

अपने दाँत पर लगाने के लिए, पानी के साथ थोड़ा तेल पतला करें, एक कॉटन बोल पर कुछ बूँदें रखें और अपने दाँत पर रखें।

दांत दर्द के कारण क्या है?

दांतों की सड़न। दांतों की चोट, टूटे हुए दांत मुंह का अल्सर, ढीली फिलिंग, मसूड़ों में सूजन, दांत के अंदर सूजन, बैक्टीरिया की वजह से दांतों में सड़न या संक्रमण, कान में दर्द, जबड़े या मुंह में चोट लगना, हार्ट अटैक ये सब दांतों के दर्द के कारण हो सकते है।

दांत दर्द में क्या खाना चाहिए?

दांत दर्द और खाने का कोई भी संबंध नहीं है आप खाने में कोई भी आहार ले सकते हैं। हम यहां पर भोजन की बात कर रहे हैं ना कि हानिकारक चीजें खाने की इसलिए आप खाना खाने में कोई भी चीजें खा सकते हैं।

Conclusion

उम्मीद है की आपको आज की पोस्ट पसंद आई होगी, लेकिन ऊपर बताये गए उपचार जानकारी के हेतु से बताये गए है, इसे अपनाने से पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले। ऐसी ही पोस्ट पढ़ने के लिये को चयर करना ना भूले |

अगर आपका कोई हेल्थ से रिलेटेड कोई भी सवाल हो तो अवश्य पुछें, हैं उसका अवश्य ही जवाब देंगे।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट में हमें जरूर बताएं

Health संबंधित जानकारीया पाने के लिए आप हमारे ब्लाॅग वेबसाइट पर जरूर विजिट करे| और किसी भी बिमारी के उपचार के लिए डाॅक्टर से परामर्श जरूर ले ताकि आपको किसी भी बिमारी का सही और सटीक इलाज मिल सके| और नियमित व्यायाम जरूर करे जिससे आपका शरीर हस्ट पुस्ट, तंदूरुस्त और मजबूत बना रहे|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: