आलूबुखारा : रसीले फल के Health Benefits आपको चकित कर देगे जाने पूरी Health न्यूज़

आलूबुखारा : रसीले फल के Health Benefits आपको चकित कर देगे

जो लोग ग्रामीण इलाकों में रहते हैं, वे आलूबुखारे से अच्छी तरह वाकिफ हैं। ग्रामीण इलाकों में बहुत व्यापक रूप से उपलब्ध है। वॉलपेपर ज्यादातर मौसम के दौरान उपलब्ध होते हैं। ये पेड़ सड़कों के किनारे और फसल के खेतों में पाए जा सकते हैं।

बेर खट्टे और मीठे होते हैं और स्वाद में अच्छे होते हैं। उन्हें कस्बों में गाड़ियों में भी बेचा जाता है। ये सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं। आलूबुखारा पोटेशियम, फास्फोरस, आयरन, जिंक, मैंगनीज, विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। आलूबुखारा खाने से बढ़ती उम्र का असर कम होता है। फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाता है। फल ही नहीं बेर के पत्तों के भी कई फायदे हैं। इन पत्तों का उपयोग आयुर्वेद में किया जाता है क्योंकि इनमें औषधीय गुण होते हैं। बेर के पत्ते गले में खराश, यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के साथ ही कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए फायदेमंद होते हैं। बेर के पत्तों को काढ़े या पेस्ट के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यहाँ बेर के पत्तों के स्वास्थ्य लाभों पर एक नज़र डालते हैं।

बेर खट्टे और मीठे होते हैं और स्वाद में अच्छे होते हैं। उन्हें कस्बों में गाड़ियों में भी बेचा जाता है। ये सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं। आलूबुखारा पोटेशियम, फास्फोरस, आयरन, जिंक, मैंगनीज, विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। आलूबुखारा खाने से बढ़ती उम्र का असर कम होता है। फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाता है। फल ही नहीं बेर के पत्तों के भी कई फायदे हैं। इन पत्तों का उपयोग आयुर्वेद में किया जाता है क्योंकि इनमें औषधीय गुण होते हैं। बेर के पत्ते गले में खराश, यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के साथ ही कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए फायदेमंद होते हैं। बेर के पत्तों को काढ़े या पेस्ट के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यहाँ बेर के पत्तों के स्वास्थ्य लाभों पर एक नज़र डालते हैं।

बेर के पत्तों के फायदे

बेर के पत्तों के फायदे

1. गले में खराश की समस्या होने पर बेर के पत्ते अच्छे से काम करते हैं। इन पत्तों को मिलाकर पीएं। बेर के पत्ते लें और इसे मिक्सर में डालकर पेस्ट बना लें। इसे पानी में डालकर कुछ देर उबाल लें। फिर इसे एक गिलास में छान लीजिये, इसमें चुटकी भर नमक और काली मिर्च पाउडर डाल दीजिये. इस बेर के पत्ते का आसव पीने से गले की खराश कम हो जाएगी।

2. मूत्र संबंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। वे मूत्र पथ के संक्रमण और मूत्रमार्ग की सूजन जैसी समस्याओं के लिए अच्छा काम करते हैं। बेर के पत्ते के रस को गुनगुने पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

3. वजन नियंत्रित किया जा सकता है। अगर आप मोटे हैं और वजन कम करना चाहते हैं तो बेर के पत्ते लें। बेर के पत्तों को पीसकर रात भर पानी में रख दें। इस पानी को सुबह छानकर खाली पेट पीना चाहिए। इस पानी को कुछ दिनों तक नियमित रूप से पीने से वजन नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। शरीर सुडौल हो जाता है।

4. बेर के पत्ते घाव भरने में मदद करते हैं। अगर आपके शरीर के किसी अंग में चोट है.. बेर के पत्तों को बारीक पीस लें. पेस्ट को चोट वाली जगह पर लगाएं। ऐसा करने से सूजन ठीक हो जाएगी और घाव जल्दी भर जाएगा।

5. आंखों के पिंपल्स को कम करता है। अगर आपकी आंखों में पिंपल्स या कैविटी हैं तो आप बेर के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए बेर के पत्ते के रस को आंख के बाहरी हिस्से पर लगाएं। इस संबंध में सावधान रहें। याद रखें कि बेर के पत्तों का रस सीधे आंखों में नहीं जाना चाहिए।

आप सभी लोगो का हमारे ब्लाॅग वेबसाइट पर हार्दिक स्वागत हैं| मै अशोक प्रजापत ये आशा करता हू कि आपको हमारी पोस्ट बहुत अच्छी लगती होगी अगर हमारी पोस्ट आपको अच्छी लगती हो तो ज्यादा से ज्यादा लोगो तक जरूर भेजे ताकि उनको भी इसका पूरा पूरा फायदा जरूर मिले|

अगर आपका कोई हेल्थ से रिलेटेड कोई भी सवाल हो तो अवश्य पुछें, हैं उसका अवश्य ही जवाब देंगे।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट में हमें जरूर बताएं

Health संबंधित जानकारीया पाने के लिए आप हमारे ब्लाॅग वेबसाइट पर जरूर विजिट करे| और किसी भी बिमारी के उपचार के लिए डाॅक्टर से परामर्श जरूर ले ताकि आपको किसी भी बिमारी का सही और सटीक इलाज मिल सके| और नियमित व्यायाम जरूर करे जिससे आपका शरीर हस्ट पुस्ट, तंदूरुस्त और मजबूत बना रहे|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: